Entertainment

ऑटो चलाने से लेकर कॉमेडी किंग बनने तक! पढ़िए कहानी राजू श्रीवास्तव की

raju shrivastava story hindi

मशहूर काॅमेडियन राजू श्रीवास्तव दिल्ली के एम्स में भर्ती है। जिम में एक्सरसाइज के दौरान 10 अगस्त को उन्हें उन्हें हार्ट अटैक आया था और वे वहीं बेहोश हो गए। तभी से वे आईसीयू में है और उनकी हालत नाजूक बनी हुई है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार उन्हें ब्रेन डेड है और हार्ट भी सही से काम नहीं कर रहा है। 58 वर्षीय Raju Srivastav के अब एक नया स्टेंट डाला गया है। जिसके लिए उनके 2 स्टेंट को रिप्लेस किया गया है। ये पहली बार नहीं है जब राजू श्रीवास्तव हार्ट से जुड़ी समस्या हुई है। इससे पहले काॅमेडी किंग राजू श्रीवास्तव दिल के मरीज रहे हैं। इससे पूर्व उन्हें 9 स्टेंट डाले जा चुके हैं। वहीं, देशभर में उनके चाहने वाले Raju Srivastav के लिए दुआएं कर रहे हैं। आइए इस आर्टिकल में जानते हैं Raju Srivastav के काॅमेडियन बनने के कहानी

राजू श्रीवास्तव का जीवन परिचय

काॅमेडी किंग राजू श्रीवास्तव का जन्म 25 दिसम्बर 1963 को उत्तर प्रदेश के कानपुर शहर में हुआ था। उनके पिता रमेश चंद्रा एक कवि थे। ऐसे में बचपन से ही Raju Srivastav भी मंच पर शो करना चाहते थे। वे काॅमेडी और मिमिक्री में अच्छे थे। ऐसे में उन्होंने काॅमेडियन बनना चुना और शादी, पार्टी आदि में शोज करने लगे। काॅमेडियन Raju Srivastav ने लखनऊ निवासी शिखा से 1 जुलाई 1993 में शादी की। राजू श्रीवास्तव के 2 बच्चे हैं, जिनका नाम अंतरा और आयुष्मान है।

Raju Srivastav का संघर्ष

काॅमेडियन राजू श्रीवास्तव ने कम उम्र में ही मिमिक्री और काॅमेडी शोज करने शुरू कर दिए थे। उन्हें जहां भी मौका मिलता वे शोज जरूर करते। ऐसे में Raju Srivastav को फंक्शन या जन्मदिन की पार्टी में बतौर कॉमेडियन बुलाने लगे। Raju Srivastav को धीरे धीरे स्टेज रोल भी ऑफर होने लगे। उन्हें काॅमेडी और मिमिक्री में पहचान मिलने लगी। राजू इस सफर को यही नहीं रोकना चाहते थे। वे इसी काॅमेडी और मिमिक्री के क्षेत्र में कामयाब होना चाहते थे। ऐसे में वे 1982 में मुम्बई आ गए। लेकिन मुम्बई में भी उनके लिए जगह बनाना इतना आसान नहीं था। यहां भी उन्हें संघर्ष करना पड़ा।

मुम्बई आने के बाद Raju Srivastav को शोज तो मिलते लेकिन अच्छे ऑफर नहीं मिलते। ऐसे में गुजारा चलाने के लिए उन्हें ऑटो भी चलाना पड़ा, लेकिन Raju Srivastav ने कभी हिम्मत नहीं हारी। इसी बीच Raju Srivastav को फिल्मों में कुछ काॅमेडी सीन के छोटे राॅल मिले, जिससे उन्हें पहचान मिलने लगी। इन फिल्मों में ‘तेजाब’, ‘बाजीगर’ ,’मैंने प्यार किया ‘ जैसी फिल्में शामिल थी।

राजू श्रीवास्तव काॅमेडी शोज

राजू श्रीवास्तव मुम्बई आने के बाद फिल्मों में छोटे मोटे रोल कर रहे थे। इसी दौरान ‘द ग्रेट इंडियन लाफ्टर चैलेंज’ रियलिटी शो शुरू हुआ, जिसमें Raju Srivastav का भी चयन हो गया। यह काॅमेडी शो देशभर में बहुत पोपूलर हुआ और राजू श्रीवास्तव की काॅमेडी को बहुत पसंद किया गया। यह शो राजू श्रीवास्तव के करियर का भी टर्निंग पॉइंट था। इसमें Raju Srivastav ने गजोधर का किरदार बनकर लोगों को खूब हंसाया और घर-घर तक पहुंच गए। इस शो में राजू सेकंड रनरअन रहे। इसके बाद Raju Srivastav ने कई रियलिटी शोज में हिस्सा लेने के साथ ही करीब 1 दर्जन फिल्मों में काम किया।

Raju Srivastav की लव स्टोरी

बताया जाता है कि राजू श्रीवास्तव ने भाई की शादी में शिखा को देखा था और उन्हें उससे प्यार हो गया। शिखा, राजू श्रीवास्तव के भाभी की कजिन सिस्टर थी और इटावा में रहती थी। 1982 में Raju Srivastav ने मुम्बई आकर करियर बनाया और फिर शिखा के घर रिश्ता भेजा जिसे मंजूर कर लिया गया। जिसके बाद 1 जुलाई 1993 उनकी शिखा से शादी हो गई।

राजनीति में Raju Srivastav

काॅमेडी किंग राजू श्रीवास्तव राजनीति में भी सक्रिय हैं और भाजपा से जुड़े हैं। हालांकि इससे पूर्व 2014 में समाजवादी पार्टी ने Raju Srivastav को लोकसभा का टिकट दिया था। जिसे उन्होंने 11 मार्च 2014 को वापस लौटा दिया और 19 मार्च को भाजपा ज्वाइन कर ली। इसके बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने Raju Srivastav को स्वच्छ भारत अभियान के लिए नोमिनेट किया। वे इस अभियान के विज्ञापन में भी नजर आ चुके हैं। तभी से वे भाजपा में सक्रिय होकर काम कर रहे हैं।

काॅमेडियन राजू श्रीवास्तव का जीवन संघर्ष के बल पर सफल होने की कहानी बयां करता है। उनका जीवन कला क्षेत्र में करियर का सपना देखने वाले युवाओं के लिए प्रेरणास्त्रोत है।

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *